एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा कि हल्के Covid के लक्षण वाले मरीज़ चेस्ट सीटी स्कैन से बचें पहले एक्स-रे के लिए जाएं

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

All India Institute of Medical Sciences (AIIMS) Director Dr Randeep Guleria ने एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा की जिन covid के मरीजों में हलके या कम लक्षण है वह पहले Xray की लिए जाये, बजाए Chest CT Scan. डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा “ऐसे अध्ययन हुए हैं जो बताते हैं कि लगभग 30-40 प्रतिशत लोग ऐसे हैं जिन्हे कोई symptom नहीं है लेकिन कोरोना पॉजिटिव हैं और सीटी स्कैन करवा चुके हैं, उनमें पैच भी थे जो बिना किसी उपचार के समाप्त हो गए।”

क्यों खतरनाक है चेस्ट सीटी स्कैन उन्होंने आगे कहा कि एक सीटी स्कैन 300-400 छाती के एक्स-रे के बराबर है और इससे बाद के जीवन में कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है, खासकर युवाओं में।

डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने कहा यदि आपको संदेह है, तो पहले छाती का एक्स-रे करवाएं, यदि आवश्यक हो, तो डॉक्टर उचित सलाह देंगे कि सीटी स्कैन की आवश्यकता है या नहीं उसके बाद आप करवा सकते है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *