Cloud Computing क्या है। जानिए इसके प्रकार।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Cloud Computing क्या है।

Cloud Computing नई पीढ़ी का एक इंटरनेट-आधारित कंप्यूटिंग है जिसमें कई व्यापक संसाधनों का एक पूल बनाके नेटवर्क से जोड़ कर इस्तमाल किया जाता है। आम भाषा में समझे तो क्लाउड कंप्यूटिंग कई नियमित रूप से इस्तमाल होने वाले डाटा को कंप्यूटर में स्टोर करके उसे सर्वर में संग्रहीत करता है और बाद में फिर उसे इटरनेट के माध्यम से इस्तमाल किया जाता है।
जैसे की हम सब जानते है की इंटरनेट पर सर्वरों में जानकारियाँ स्टोर रहती हैं। और यूजर सिस्टम में इंटरनेट के माध्यम से डाटा को एक्सेस करता है। जो सॉफ्टवेयर प्रोग्राम आप अपने कम्प्यूटर और लैपटॉप-नोटबुक पर इनस्टॉल  करते रहे थे। अब इसकी कभी आवश्यकता नहीं होगी क्योंकि ये सब सॉफ्टवेयर अब आपको क्लाउड वेब सेवाओं के जरिए मिला करेंगी।
क्लाउड कंप्यूटिंग का उपयोग आज पूरी दुनिया कर रही है। Google, Microsoft, Amazon, Facebook, Netflix जैसे बड़ी tech कंपनी क्लाउड का इस्तमाल बड़े पैमाने पे करती है।  और भविष्य भी क्लाउड का ही है।  Web hosting के क्षेत्र में भी क्लाउड का उपयोग काफी हद बढ़ गया है। जैसे Amazon AWS जो की अमेज़न का क्लाउड सर्वर जो Web होस्टिंग के अलावा बड़े सस्थानों का डाटा को स्टोरेज करने का काम भी करता है।
उदारण से समझते है क्लाउड कंप्यूटिंग – Netflix का आप ने नाम सुना होगा यह एक मूवी स्ट्रीमिंग प्लेटफार्म जिसमे कई तरह के मूवीज टीवी शोज ऑनलाइन अपने मोबाइल या लैपटॉप पे इंटनेट के माध्यम से देख सकते है।  पर आप जानते की नेटफ्लिक्स पूरी तरह से क्लाउड कंप्यूटिंग का इस्तमाल करता है अपने मूवीज को स्ट्रीम करने के लिए नेटफ्लिक्स के क्लाउड सर्वर विशाल मात्रा में सारी जगह उपलब्ध है और यूजर इंटरनेट के माध्यम से उसे एक्सेस करते है।
Cloud Computing क्या है। जानिए इसके प्रकार।

क्लाउड कंप्यूटिंग सेवाओं के विभिन्न प्रकार क्या हैं?

Infrastructure-as-a-service (IaaS) – IaaS का उपयोग मुख्य तोर पे डाटा को स्टोर व प्रोसेस करने के लिए क्लाउड इंफ्रास्ट्रक्टर के जरुरत पड़ती इसमें pay as you के आधार पर सर्विस का भुगतान करके उपयोग किया जाता है। यह क्लाउड कंप्यूटिंग प्रकारों की सबसे बुनियादी श्रेणी है यह आईटी इन्फ्रास्ट्रक्चर – सर्वर और वर्चुअल मशीन स्टोरेज नेटवर्क और ऑपरेटिंग सिस्टम किराए पर देता है।
Platform as a service (PaaS) –  PaaS डेवलपर्स को वेब एप्लिकेशन बनाने और होस्ट करने के उपकरण देता है। Paa यूजर को IT इंफ्रास्टक्टर उपलब्ध करवाता है जिससे डेवेलपर्स को आसानी से अपने मोबाइल ऐप वेब एप्लीकेशन वेबसाइट इत्यादि डडेवलेप कर सकते है। ताकि वे बिना चिंता के उन्हें सर्वर, स्टोरेज, नेटवर्क और डेटाबेस के अंतर्निहित बुनियादी ढांचे को स्थापित करके के डेवलेप करे।
Software as a service (SaaS) – SaaS की मदद से हम सॉफ्टवेयर मोबाइल ऐप्स का उपयोग इंटरनेट के माध्यम से कर सकते है। यह आमतौर पे ऑनलाइन Subscrption पे आते है। SaaS आपको सदस्यता के आधार पर इंटरनेट पर सॉफ्टवेयर को वितरित करने का एक माध्यम है इसमें आप न केवल सॉफ्टवेयर को होस्ट कर  इस्तमाल कर सकते है बल्कि इसमें डेवेलप तथा रखरखाव (सॉफ़्टवेयर अपग्रेड और सुरक्षा ) को संभालने में मदद करता है।
 

क्लाउड कंप्यूटिंग के उपयोग क्या है।

क्लाउड कंप्यूटिंग का उपयोग आज सभी किसी न किसी रूप में करते है पर हमे उसका एहसास नहीं है।  वैसे तो हम सभी ईमेल भेजने सोशल नेटवर्किंग ऐप्स चलाने ऑनलाइन मूवीज देखने गाना सुनने फाइल्स को ऑनलाइन स्टोर करने के लिए उपयोग करते है। आज सारे छोटी बड़ी  कंपनी सरकारी हो या प्राइवेट सभी क्लाउड कंप्यूटिंग का उपयोग करते है।
क्लाउड से आप डाटा का  बैक अप और डेटा पुनर्प्राप्त करें
आप इससे वेबसाइट और मोबाइल एप्स को होस्ट कर सकते है
क्लाउड कंप्यूटिंग से आप ऑडियो और वीडियो मूवीज स्ट्रीम कर सकते है
क्लाउड कंप्यूटिंग से आप डिमांड सॉफ़्टवेयर सेवाओं प्रदान कर सकते है
डाटा एनालिसिस के लिए क्लाउड का उपयोग Data Scientist द्वारा किया जाता है
Predictive Analysis के लिए क्लाउड का उपयोग किया जाता है
एक अनुमान के अनुसार, क्लाउड सेवाओं पर वैश्विक खर्च $ 219.6 बिलियन से इस साल $ 260 बिलियन तक पहुंच जाएगा। यह भी विश्लेषकों की अपेक्षा से तेज दर से बढ़ रहा है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *