Papaya Benefits in Hindi

पपीते के फायदे एव रोगों का उपचार हिंदी।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

पपीते के फायदे से रोगों का उपचार। Papaya Benefits in Hindi

जो लोग पचास वर्ष से ऊपर की आयु के लिए पपीता किसी वरदान से कम नहीं होता पपीते के अपने कई सारे गुण और फायदे है, इसकी वजह से आम लोगों के बीच पपीता काफी ज्यादा मशहूर है और उसे एक अच्छा फल के रूप में माना जाता है पपीते का अकार अधिक बड़ा नहीं होता परंतु लंबा जरूर होता है और यह हरा कलर का होता है और छोटी जगह पर भी आसानी से उग जाता है पपीते के पौधे पर बहुत सारे फल लगते हैं इसलिए यह फल दूसरों फलों की अपेक्षा काफी सस्ता होता है। और काफी आसानी से मार्केट में मिल जाता है।

कच्चा पपीता और पका पपीता दोनों के अपने-अपने गुण हैं कच्चा पपीता में हल्के से प्रकार का दूध निकलता है इस दूध को यदि चर्म रोग पर लगाया जाए तो चर्म रोग से छुटकारा मिल जाता है यह बहुत लाभदायक दवा है फोड़े फुंसियों के ऊपर भी इस दूध को लगाने से काफी आराम मिलता है इस दूध को दाद खुजली नाशक भी कहा जाता है।

पपीते का प्राकृतिक उपचार या पपीते के फायदे

पपीता का दोस्तों एक फायदा यह है कि पथरी के जो रोगी होते हैं उस पर यह काफी ज्यादा लाभ पूर्वक है पपीते की जड़ को सुखाकर इसे अच्छी तरह से एक कूट पीस कर अगर इसका चूर्ण बनाकर तैयार कर लें और रोजाना एक चम्मच सुबह-शाम ताजा पानी के साथ सेवन करें तो पथरी अंदर से गल कर मूत्र मार्ग से बाहर निकल जाती है और रोगी इस बीमारी से ठीक हो जायगा है।

पपीता का दूसरा महत्वपूर्ण उपयोग दोस्तों कब्ज़ तथा पेट की खराबी के लिए होता है, ऐसे रोगियों को पपीता हर रोज सुबह उठकर खाना चाहिए यह ध्यान रहे कि वह पति के बीज और छिलका उतारकर खाना जरूरी है छिलके बिल्कुल भी ना खाएं।

बाबासीर रोगियों के लिए भी काफी ज्यादा ला पूर्वक है। जिन रोगी जिनको खूनी बवासीर के रोगियों सुबह के समय पपीता खाने को दिया जाए तो उन्हें इस रोग से अंदर ही काफी ज्यादा आराम मिल सकता है बवासीर के रोगियों को लाल मिर्च गरम मसाला तथा अन्य गर्म चीजों का प्रयोग नहीं करना चाहिए और पपीते को अपने डाइट में शामिल करना चाहिए जिससे वह इस बीमारी से जल्दी से छुटकारा पा सकें।

पपीते का उपयोग जिगर की खराबी में भी इस्तेमाल होता है जिन लोगों के जिगर बढ़ जाते हैं भूख कम लगती है उन्हें शारीरिक कमजोरी तो आती है ऐसे में अगर उन्हें पपीता खाने के लिए दिया जाए तो ज्यादा सुधार होता है हर रोज ऐसे रोगियों को सुबह उठकर पपीता छीलकर के छोटे टुकड़े करके उस पर पर काली मिर्च और नींबू चढ़ने छोड़कर निरंतर 40 से 50 दिन करीब तक खाना चाहिए इससे उनकी जगह जो तकलीफ है वह जल्द ही ठीक हो जाएगी और उन्हें काफी आत राहत मिलेगी अगर आप चाहते हैं।

यदि आप सदा जवान रहना चाहते हैं कर आपकी त्वचा सुंदर दिखे तो उस सूरत में पपीते का उपयोग कर सकते हैं उनके लिए पपीता का फल किसी वरदान से कम नहीं होता दोस्तों पपीता निरंतर खाने से आप अपने बुढ़ापे पर विजय पा सकते है और ज्यादा चुस्ती फुर्ती से अपनी जीवनशैली को विकास कर पाएंगे सुबह उठकर पपीता गाय के दूध के साथ नाश्ते के रूप में लें तो आपस में स्वस्थ रहेंगे जो लोग निरंतर पपीते का प्रयोग करते हैं उन्हें टीवी दमा ख़ासी रोग नहीं लगते इसलिए पपीता खाएं।

पपीता से आपका सुंदरता में निखार आता है जिन औरतों के चेहरे पर दाग होते हैं उनकी सुंदरता के लिए वह पपीते का उपयोग कर सकते हैं, पपीते के टुकड़े काटकर उन दागों पर हर हर रोज दिन में चार बार मलते रहे एक महीने में सारे दाग साफ हो जाएंगे और आपका रूप निखार आएगा।

पपीता खाने से दोस्तों कैलोरी कम होता है और यह काफी ज्यादा है शुगर के रोगियों के लिए लाभ दायक होता है, क्योंकि इसमें फाइबर की मात्रा अधिक होती है।

दोस्तों ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए भी पपीता काफी ज्यादा लाभदायक होता है इसका सेवन करने से उनको ब्लड प्रेशर में काफी ज्यादा सुधार आता है।

पपीता खाने से दोस्तों आंखों की रोशनी बढ़ती है।

पीरियड के दौरान पपीता खाने वाली जो महिलाएं होती हैं जो निरंतर पपीते का उपयोग करती हैं उनको भी पीरियड के दौरान जो दर्द होता है उसमें भी उन औरतो को फायदा मिलता है।