Wednesday, November 30, 2022
HomeHealthDiabetes Kya Hai? जाने मधुमेह के बारे में

Diabetes Kya Hai? जाने मधुमेह के बारे में

मधुमेह क्या है Diabetes Kya Hai

डायबिटीज यानि मधुमेह की बीमारी और देखभाल आइए जानते हैं

जैसा कि आप सभी जानते हैं दोस्तों मधुमेह (डायबिटीज) एक गंभीर बीमारी है और यह पूरे विश्व की सबसे बड़ी चिंता का विषय भी है, भारत में करीब 6 करोड़ से ज्यादा लोग इस बीमारी से ग्रसित हैं मधुमेह यानी डायबिटीज को आमतौर पर शुगर की बीमारी के नाम से भी जाना जाता है यह बीमारी भारत की एक बड़ी स्वास्थ्य समस्या बन चुकी है इस बीमारी में खून में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है एक स्वस्थ व्यक्ति के शरीर में इंसुलिन नामक हार्मोन के द्वारा भोजन को ऊर्जा में परिवर्तित किया जाता है मधुमेह यानी डायबिटीज से पीड़ित लोगों के शरीर में इंसुलिन की मात्रा नहीं होती या उनके शरीर का द्वारा बनाया हुआ पूरी तरह से काम नहीं करता इसलिए शरीर की कोशिकाएं शुगर को अब्सॉर्ब नहीं कर पाती और खून में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है।

मधुमेह के प्रकार

मधुमेह में मुख्यतः तीन प्रकार के होते हैं प्रकार के मधुमेह में इंसुलिन पर निर्धारित मधुमेह या बच्चों को किशोरावस्था हुआ युवक व्यस्त लोगों में जाना प्रारंभ होने वाली मधु में भी कहते हैं इस प्रकार के मधुमेह को शुरुआत तार के मधुमेह की शुरुआत बच्चों के शरीर में ऐड किया द्वारा इंसुलिन का पुल निर्माण ना हो पाने की वजह से होती है इस प्रकार के मधुमेह में मरीज का इलाज खाने की गोलियों में संभव नहीं होता और इसको अपनी बीमारी कितने दिन तक जीवित रहने के लिए इंसुलिन का जरूरत पड़ती है इसे बंद करने पर जान का खतरा हो सकता है

टाइप 2 मधुमेह इसे वैसे तो यानी बड़े लोगों में होने वाली मधुमेह कहते हैं किस अवस्था में शरीर के अंदर के इंसुलिन का उत्पादन तो होता है परंतु उसके शरीर की मात्रा की जरूरत को पूरा करने के लिए प्राप्त नहीं होता परिणाम स्वरुप शरीर की कोशिकाएं शुगर को ऊर्जा के स्रोत के रूप में प्रयोग नहीं कर पाते इस कारण खून में शुगर तुम्हारा बढ़िया टैटू दूंगा 40 वर्ष 40 वर्ष की आयु में लोगों को सकती है

गर्भवती होने वाला मधुमेह
प्रकार के मधुमेह महिलाओं में गर्भावस्था के दौरान होती है 1st इन सेंट्रल मधुमेह कहते हैं महिलाओं की स्थिति की तुलना की जाए तो जटिलताओं का खतरा रहता है गर्भावस्था के समय यदि खून में शुगर की मात्रा अधिक हो तो भी गर्व के शिशु का वजन अधिक बढ़ जाता है इसकी वजह से प्रसाद में कठिनाई हो सकती है और मां और बच्चे को प्रसव के समय कपिल कर ले बेटा क्षति पहुंच सकती है

मधुमेह के लक्षण क्या होते हैं

शुरुआत में जाकर मधुमेह से पीड़ित मरीजों के कई लक्षण नहीं होते कई लोगों में तो इसका अचानक ही पता चलता है जबकि किसी अन्य बीमारी के लिए खून की जांच करवाई जाती है जैसे कि किसी ऑपरेशन से पहले तक मधुमेह के बारे में पता चलता है

जानते हैं मधुमेह के लक्षण क्या होते हैं

बार बार पेशाब लगना
ज्यादा प्यास लगना
बहुत अधिक भूख लगना
वजन का असामान्य रूप से कम होना
जल्दी थक जाना
चक्कर आना
चिड़चिड़ापन होना
ठीक से नींद नहीं आना
ओ की रोशनी कमजोर होना या दूल्हा दिखना
बार-बार त्वचा मसूड़े व पेशाब का संक्रमण होना
चोटिया गांव का देर से बाहर आया ठीक ना होना
गुप्तांगों के आसपास खुजली होना

मधुमेह क्यों होता है

मधुमेह होने के क्या कारण है आइए जानते हैं ऐसा कोई कारण नहीं जिनकी वजह से मधुमेह होने का खतरा बढ़ जाता है इनमें से कुछ में बदलाव लाना संभव है और कुछ में नहीं एक व्यक्ति के साथ कई जोख़िम कारक भी होते हैं डायबिटीज क्यों होती है पारिवारिक सबसे पहली चीज पारिवारिक इतिहास यदि परिवार में किसी की माता पिता या भाई बहन को मधुमेह है तो परिवार वाले व्यक्ति के संबंध में मधुमेह डायबिटीज होने की संभावना होती है

लड़कों की तुलना में लड़कियों के मौसम की संभावना लगभग समान रहती है परंतु इसके बाद 30 वर्ष की आयु तक महिलाओं में मधुमेह होने की संभावना अधिक हो जाती है

अधिक वजन आवश्यकता से अधिक शरीर के वजन होने पर टाइप 2 मधुमेह होने की संभावना अधिक होती है

शारीरिक सक्रियता शारीरिक परिश्रम करते हैं उन्हें मधुमेह की बीमारी की सम्भवना काम होती है इसके विपरीत आराम की जिंदगी बसर करने वालों को मधुमेह होने की संभावना अधिक होती है।

तनाव भी एक महत्वपूर्ण कारक है, हमेशा तनाव से ग्रसित लोगों को मधुमेह की बीमारी होने की ज्यादा संभवाना होती है।

खाने पीने में पौष्टिक व संतुलित आहार ना खाना भी मधुमेह के कारण होता है अभी घी तेल वाले भोजन का सेवन करने से डायबिटीज से खतरा बढ़ जाता है।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments