Depression ka gharelu ilaj

डिप्रेशन और साथ के प्राकृतिक एवं घरेलू उपचार- Depression Ka Gharelu ilaj

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Depression ka gharelu ilaj – मानसिक रोग यानी कि डिप्रेशन के प्राकृतिक एवं घरेलू उपचार।

Depression क्या? डिप्रेशन के लक्षण।

जैसा कि आप सब जानते हैं दोस्तों डिप्रेशन (Depression ka gharelu ilaj) गंभीर बीमारी है और यह समय के साथ अगर इसका इलाज न किया जाए तो धीरे-धीरे यह इतनी खतरनाक हो जाती है, जिससे की मृत्यु हो जाती है या फिर वह ऐसा कोई कदम उठा लेता है तनाव में आकर इसे उस काफी ज्यादा नुकसान पहुंचता है। कभी-कभी तो लोग तनाव या डिप्रेशन का शिकार होकर खुदकुशी यानी कि सुसाइड कर लेते हैं। ऐसे काफी सारे उदाहरण है जहां पर डिप्रेशन से पीड़ित व्यक्ति ऐसा कोई कदम उठा लेते हैं जिससे उनके और उनके परिवार वालों को काफी ज्यादा हानि पहुंचती है।

डिप्रेशन या अवसाद सभी भावनात्मक अवस्थाओं में सबसे गहन हैं, हल्की उदासी से शुरू होने वाली यह तकलीफ धीरे-धीरे बहुत ज्यादा दुख तकलीफ उदासी में बदल जाती है, अन्य शारीरिक रोग भी लग जाते हैं अंत में व्यक्ति कभी-कभी आत्महत्या तक कर लेता है व्यक्ति प्राय अपराध दमन करने वाले भावों और शोषण से गुजरता है साथ ही उसकी भूख खत्म हो जाती है दिमाग चारों तरफ घूमता रहता है बेचैनी और घबराहट बढ़ जाती है। इसके अलावा पूरे शरीर में कमजोरी उदासीनता दर्द एकाग्रता की कमी निर्णय लेने की शक्ति में कमी और नींद नहीं आना आदि लक्षण भी दिखाई देने लगते हैं, और उसे चारों तरफ से निराशा घेर लेती है सही से इसका उपचार ना करने से काफी भयंकर परिणाम होते हैं।

मानसिक रोग डिप्रेशन प्राकृत के प्राकृतिक एवं घरेलू उपचार

पहला है चाय कॉफी शराब चॉकलेट कोला आदि का प्रयोग बिल्कुल ना करें भोजन सदा तथा सुपाच्य ही खाएं।

सुबह का नाश्ता ले तो हल्का नाश्ता ले जिसमें दूध फल बिस्किट या ब्रेड को ले सकते हैं।

दोपहर में भोजन में आप उबली सब्जियां चपाती दही यानी, मट्ठा भी खा सकते हैं।

भोजन में हरी सब्जियां, सलाद, अंकुरित अनाज तथा दूध का सेवन करें और कोशिश करें कि खाना थोड़ा जल्दी खा ले।

प्राकृतिक स्नान संगीत धैर्य मनोविनोद प्रसंता आदि अवसाद को दूर करने के लिए कारगर उपाय है।

क्रोध तथा चिंताओं को छोड़ दें से आपके से आपको काफी ज्यादा राहत मिलेगी।

सरस्वतारिस्ट को दो दो चम्मच भोजन के बाद के साथ सेवन करें।

सुबह या फिर शाम जब भी आपको समय मिले घास पर नंगे पांव आधे घंटे तक चले इससे आपको काफी ज्यादा जो है आराम मिलेगा।

डिप्रेशन में अगर व्यक्ति योग का निरंतर उपयोग करें यानी कि रोजाना योगा करें तो उसका डिप्रेशन काफी जल्दी दूर हो सकता है इसमें जो मुख्य योग है अनुलोम विलोम प्राणायाम इसे करने से डिप्रेशन मानसिक रोग अवसाद में राहत मिलती है